• बंध्याकरण करने के दौरान डॉक्टरों की लापरवाही से गई महिला की जान

बेलदौर प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पचौत पंचायत के वार्ड नंबर 11 के अखिलेश चौधरी के 26 वर्षीय पत्नी नवीशा देवी बेलदौर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में परिवार नियोजन के तहत बंध्याकरण करण कराने के लिए आई थी। मृतक की ननंद ने बताई कि बेलदौर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में बंध्याकरण कराने के दौरान डॉक्टरों के द्वारा बोला गया था की अपेंडिस है वहीं डॉक्टरों के द्वारा तीन हजार रुपया लिया गया। ऑपरेशन करने के 2 घंटे के बाद जब होश आया मेरी ननद चिल्लाने लगी उसके बाद डॉक्टरों के द्वारा इंजेक्शन दिया गया इंजेक्शन देने के कुछ देर बाद हमेशा के लिए सो गई। वही डॉक्टरों के द्वारा उक्त महिला का शव पचौत वार्ड नंबर 11 उनके पैतृक घर पहुंचा दिया। जब डॉक्टरों के द्वारा सूचना दिया गया कि आपके परिवार में ऑपरेशन के बाद मौत हो गई। परिजन घर से बेलदौर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र आए स्वास्थ्य केंद्र में खोजे नहीं मिली बाद में डॉक्टरों के द्वारा बताया गया उन्हें घर भेजा गया। जब शव एंबुलेंस के द्वारा उनके घर गई उनके साथ आशा कार्यकर्ता भी नहीं थी एक गांव की है महिला उसके साथ में पुलिसकर्मी के साथ मृतक के उन परिजन को आने से पहले ही शव को उनके घर पहुंचा दिया गया था। आक्रोश में आकर मृतक के परिजनों एवं ग्रामीणों ने सुबह बेलदौर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के आगे शव को लेकर पीडब्ल्यूडी सडक़ को जाम कर दिया। वही घटनास्थल पर पहुंचे अंचलाधिकारी अमित कुमार बेलदौर थाना अध्यक्ष शिव कुमार यादव ने मृतक के परिजनों से बातचीत कर एवं आश्वासन दिया कि मृतक के परिवारों को डेढ़ लाख रुपैया दिया जाएगा । वही दाह संस्कार के लिए पांच हजार रुपए दिये। प्रशासन के आश्वासन के बाद जाम को हटाया गया यह जाम करीब 3 घंटे तक लगा रहा ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here