खगड़िया : जिले के पुलिस कप्तान अमितेश कुमार ने बेलदौर थाना पहुंचकर थाना क्षेत्र में हो रहे अपराधिक घटनाओं के बारे में अपने अधीनस्थ कर्मियों से बारीकी से पूछताछ किया। बीते 6 दिसंबर के अहले सुबह टहलने के दौरान बेलदौर पंचायत के पूर्व पंचायत समिति सह जदयू नेता नरेश राम की हत्या अपराधियों ने कर दिया था। उक्त मामले को लेकर जिले के पुलिस कप्तान ने मृतक की पत्नी बेबी देवी एवं मृतक नरेश राम के साथ में जो
शिक्षक टहलने गये थे उन दोनों
से करीब 1 घंटे तक पूछताछ किये। उक्त शिक्षक को बुलाकर उनसे भी गहन पूछताछ की। जिले के पुलिस कप्तान ने बताया कि पूर्व पंचायत समिति नरेश राम की हत्या बहुत जघन्य तरीके से अपराधियों ने गोली मारकर कर दी गई। इस घटना के बारे में मृतक के परिवार के सदस्य कुछ कहने से भी इंकार कर रहे थे। वही बेलदौर पुलिस के द्वारा मृतक के पत्नी बेबी देवी के द्वारा अज्ञात लोगों के उपर प्राथमिकी दर्ज की। उसी रात में 24 घंटे के अंदर बेलदौर पुलिस ने 4 व्यक्तियों को हिरासत में लेकर पूछताछ किया, जिसमें चारों व्यक्तियों ने अपनी गुनाह स्वीकार किया। जिसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। बचे हुए अपराधियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाएगा। उक्त घटनाक्रम में जो अभियुक्त डिजिटल एविडेंस के आधार पर है वह घटना के बाद से ही फरार चल रहा है। उक्त अपराधियों के गिरफ्तारी के बाद और भी खुलासा होगें। वहीं इस केस को स्पीड ट्रायल मे डाल कर त्वरित विचार हो और दोषियो को सजा हो । वही 25 नवंबर को चोढ़ली पंचायत के मुखिया पति सह मुखिया प्रतिनिधि मोहम्मद कौसर को पंचायती के दौरान गोली मारकर अपराधियों ने हत्या कर दिया। उक्त मामले मैं भी उन्होंने कहा कि जब तक स्थानीय ग्रामीण प्रशासन को सहयोग नहीं करेंगे तब तक हत्यारे तक नहीं पहुंच पाएंगे। वहीं इस घटना में दो व्यक्तियों का नाम सामने आ रहा है जो दोनों का पूर्व अपराधिक इतिहास है जल्द ही उन लोगों की गिरफ्तारी होगी। जितने भी जनप्रतिनिधि से संबंधित मामले हैं सरकार के लिए बहुत ही विशेष अहम् है। और इसको बहुत ही गंभीरता से लेते हुए त्वरित विचार की श्रेणी में रखकर जल्द से जल्द न्यायालय में सबूत लाकर दोषियों को सजा दिला सके।वहीं पनसलवा गांव में बीते 30 नवंबर को पत्नी के द्वारा पति को 5 टेबलेट नींद का खिलाकर निर्मम हत्या कर दिया था, उक्त मामले में भी दोषी बच नहीं पाएगा। दिधौन पंचायत के बीते करीब 17 दिन पहले अपराधियों ने घर में आग लगा दिया था। वहीं इस मामले में जांच के लिए एसडीपीओ को बोला गया और लोगों की गवाही बयान से और कुछ तथ्य सामने आएंगे जिससे अपराधियों की धरपकड़ की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here