परिवारी जन ही बने अपनी बेटी की जान के दुश्मन

मकान को लेकर चल रहा आपसी विवाद

धोखे से अपने नाम कराया पिता ने लड़की के पैसों से लिया गया मकान

तलाक के बाद आए हुए पैसों से लिया गया था मकान महिला का आरोप

पिता-भाई एवं भाभी और भतीजे ने किया था धारदार हथियार से हमला

विगत 7 दिनों से जिला अस्पताल में महिला भर्ती

महिला का एक 18 वर्षीय पुत्र भी

दोनों लगा रहे न्याय की गुहार कोई नहीं है न्याय देने वाला

7 दिन बीत जाने के बाद भी छाता कोतवाली में दर्ज नहीं हो सकी महिला की तहरीर पर एफ आई आर

मामला मथुरा जनपद की थाना कोतवाली स्थित कस्बा छाता का है जहां डॉली भार्गव नामक व्यक्ति की शादी दिल्ली निवासी एक युवक से की गई जिसका की तलाक 2011 में हो चुका है जिसे लेकर साडे ₹1500000 की रकम ससुराली जनों के द्वारा लड़की को तलाक के वाह जी के रूप में दी गई जिस पैसे से एक मकान महिला के द्वारा लिया गया जिसकी राष्ट्रीयता ने युवती को झांसा देकर अपने नाम करा ली और युवती को कुछ सालों 27 नवंबर को परिवार जनों के साथ में हमला कर बाहर निकाल दिया गया और तलवारों से उसके पैरों में चोट पहुंचाई गई जिसे लेकर महिला 112 पर कॉल की माध्यम से छाता थाने पहुंची जहां उसकी कोई सुनवाई नहीं हुई मेडिकल के बहाने खानापूर्ति कर अस्पताल भेज दिया गया जहां छाता अस्पताल से उसको गंभीर अवस्था को देखते हुए मथुरा रेफर कर दिया गया लेकिन इतने दिनों बाद भी आज भी युवती का हाल जानने कोई भी पुलिस अधिकारी नहीं पहुंचा

रिंकू और धर्मेश नामक दरोगा पर भी युवती ने परिजनों का साथ देने का आरोप लगाया है

अब देखना यह होगा कि योगी सरकार के महिलाओं की सुरक्षा को लेकर दिए गए आदेशों का पालन छाता पुलिस के द्वारा किया जाता है या फिर यह युवती और उसका बच्चा स्टेशनरी की भेंट चढ़ा कर यूं ही दर-दर भटकता रहेगा

वाइट,, महिला डॉली भार्गव

मथुरा उत्तर प्रदेश से भारतीय न्यूज़ 24 के लिए कैमरामैन भानुप्रिया भक्ति प्रिया गोस्वामी के साथ स्पेशल टीम ब्यूरो रिपोर्ट डॉ केशव आचार्य गोस्वामी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here