अपनी नाकामी छिपाने के लिए प्रशासन ने राधाकुंड में लगने वाले अहोई अष्टमी मेला को स्थगन करने का फैसला लिया है। एडीएम राहुल यादव के तुगलकी फरमान पर शुक्रवार को नगर पंचायत राधाकुंड ने राधारानी कुंड प्रवेश मार्गों को बेरिकेटिंग कराकर बन्द करा दिया। जिससे स्थानीय पंडा समाज सहित ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त हो गया। आक्रोशित लोगो ने राधारानीकुंड पर एसडीएम मुर्दावाद के नारे लगाकर विरोध प्रदर्शन कर बेरिकेटिंग हटाने की मांग की है।

विदित रहे कि राधाकुंड का अहोही अष्टमी मेला धार्मिक होने के चलते निसंतान दम्पतियों के लिए संतान प्राप्ति के लिए बरदान सावित होता है। इस बार अहोही अष्टमी तिथि शनिबार की है। एसडीएम राहुल यादव के तुगलकी फरमान पर शुक्रवार को पौराणिक कुंड को बेरीकेटिंग कराकर सील कर दिया है । कुंड की बेरीकेटिंग के बाद ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है।
ग्रामीणों का कहना है कि एसडीएम राहुल यादव के तुगलकी फरमान पर नगर पंचायत कर्मचारियों ने राधारानी कुंड पर बेरिकेटिंग कर श्रद्धालु भक्तों की आस्था पर चोट पहुंचाई है। राधारानी कुंड पर कभी भी किसी तरह की बेरिकेटिंग नही की गई, लेकिन एसडीएम ने अपनी नाकामी छिपाने के लिए पौराणिक परंपरा को तोड़ दिया है। एसडीएम ने मेला स्थगन का फैसला नगर पंचायत एवं कथित साधु केशव दास महज के सुझाव पर ले लिया है जबकि स्थानीय पंडा समाज एवं गणमान्य नागरिकों से कोई सुझाव नही लिए हैं । एसडीएम प्रशासन की बैठक में स्थानीय लोगो ने कुंड पर बेरिकेटिंग न लगाने की मांग रखी थी। जिसके बाद एसडीएम ने तुगलकी फरमान जारी कर राधारानी कुंड को बेरिकेटिंग से बंद कर आस्था से खिलबाड़ किया है ।

राधा कुंड गोवर्धन से कैमरामैन भानुप्रिया भक्ति प्रिया गोस्वामी के साथ डॉ केशव आचार्य गोस्वामी स्पेशल ब्यूरो रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here