इंसान की सेवा से बड़ा कोई धर्म नहीं – जितेंद्र चौहान
अगर तुम किसी के आंसू पोंझोंगे, जो परमात्मा तुम्हारी आंख में आंसू नहीं आने देगा – जितेंद्र चौहान
समाज सेवा ही मेरे जीवन का एकमात्र लक्ष्य – जितेंद्र चौहान

सच्चा इंसान वही है जो दूसरों के लिए जीता है।
आज के इस दौर में जहां हर व्यक्ति अपने ही हित, अपने ही स्वार्थ और सिर्फ और सिर्फ अपने ही बारे में ही रात दिन सोचता है , कुछ व्यक्ति ऐसे भी हैं जो समाज सेवा की अलख जलाए बैठे हैं।

आगरा के जितेंद्र चौहान एक ऐसे ही समाज सेवी हैं जिनके जीवन का एकमात्र उद्देश्य गरीब और जरूरतमंद लोगों की सहायता करना ही है।
भारतीय न्यूज़ 24 से बात करते हुए जितेंद्र चौहान ने बतलाया कि जितनी आत्म संतुष्टि उन्हें एक गरीब के आंसू पोंछ कर मिलती है उतनी आत्म संतुष्टि उन्हें किसी और तरह से नहीं मिलती।
आइए हम उन्हीं से जानते हैं कि समाज सेवा को लेकर उनके क्या विचार है।
हम उम्मीद करते हैं कि जितेंद्र चौहान इसी तरह से निस्वार्थ भाव से समाज सेवा करते रहेंगे और पूरे आगरा को लाभान्वित करते रहेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here