रिपोर्टर शरद सक्सेना
शेरगढ बरेली

आरएसी ने वासिद के परिवार की 25 हजार रुपये की आर्थिक मदद की

—- आंवला मॉब लिन्चिंग प्रकरण —

आंवला जाकर मृतक के परिजनों से मिले मौलाना अदनान रजा

गैंगस्टर व रासुका लगाने तथा परिवार को मुआवजा देने की मांग

बरेली।

ऑल इंडिया रजा एक्शन कमेटी (आरएसी) के नायब सदर नबीर-ए-आला हजरत मौलाना अदनान रजा कादरी ने आंवला पहुंचकर मॉब लिन्चिंग के शिकार वासिद के परिजनों को 25 हजार रुपये की आर्थिक मदद की। उन्होंने कहा कि पुलिस ने सात लोगों को नामजद किया है और तीन अज्ञात का जिक्र भी रिपोर्ट में है। इन जालिमों ने गैंग बनाकर वासिद की पीट-पीटकर हत्या की, इसलिए इन पर गैंगस्टर एक्ट भी लगाया जाए। मौलाना अदनान रजा कादरी ने कहा कि एक समुदाय विशेष के प्रति नफरत फैलाकर देश की सुरक्षा को भी नुकसान पहुंचाया जा रहा है, इसलिए ऐसी घटनाओं में राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के तहत भी कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होंने हुकूमत से वासिद के परिवार को मुआवजा देने की मांग भी की है।

मौलाना अदनान रजा कादरी ने आरएसी की आंवला इकाई से वासिद के घर की स्थिति पर विस्तृत रिपोर्ट मांगी थी। उन्हें पता लगा कि वासिद अपने पीछे बूढ़ी मां, पत्नी और चार छोटे-छोटे बच्चे छोड़ गया है, जिनकी आमदनी का कोई जरिया नहीं बचा है। यह सब जानकर मौलाना अदनान रजा कादरी आरएसी के सदस्यों के साथ खुद वासिद के घर पहुंचे। उन्होंने वासिद की मां से बात की और बच्चों के सर पर हाथ रखकर उनके लिए दुआ की। मौलाना अदनान रजा कादरी ने 25 हजार रुपये की आर्थिक मदद करते हुए वासिद की मां से वादा किया कि पुलिस की तरफ से सख्त कार्रवाई कराने में भी वह परिवार की पूरी मदद करेंगे। उन्होंने आरएसी की आंवला इकाई को निर्देश दिए कि वासिद के परिवार का ख्याल रखें।

नबिरा ए आला हजरत अब्दुल्ला रजा कादरी ने इस घटना में पुलिस के रवैये की निंदा करते हुए कहा कि वासिद को अस्पताल के बजाय थाने ले जाने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ भी कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि यह घटना महज एक हत्या नहीं बल्कि एक समुदाय विशेष के लोगों की मॉब लिन्चिंग की घटनाओं की एक और कड़ी है। इसलिए जांच और कार्रवाई मॉब लिन्चिंग की घटना के रूप में होनी चाहिए।

आर ए सी प्रवक्ता ने कहा कि मॉब लिन्चिंग की घटनाएं देश में भाईचारे को नुकसान पहुंचा रही हैं राष्ट्रीय सचिव हाफिज इमरान रजा बरकाती ने कहा कि यह एक व्यक्ति की नहीं बल्कि पूरी इंसानियत की मौत है। हुकूमत को इस तरह की घटनाओं पर पूर्ण विराम लगाना होगा

इस मौके पर हाफ़िज़ इमरान रजा अब्दुल हलीम खान अब्दुल लतीफ कुरैशी जमाल अजहरी जुनैद खान ताज खान सईद सिब्तैनी हनीफ अजहरी फैजान रजा तहसीनी राशिद रजा रेहान यार खान गुलाम मोहम्मद सय्यद रिजवान आरिफ गद्दी बब्बू गद्दी शाहबाज रज़ा फुरकान रज़ा शोइब रज़ा साहिल रज़ा इश्तियाक हुसैन मोहम्मद पप्पू आवंला इकाई के सलमान रज़ा नावेद अंसारी अतहर खान सुब्हान रज़ा सहित आर ए सी के पदाधिकारी वा कार्यकर्ता मौजूद रहे

मौलाना अदनान रज़ा कादरी
नायब सदर आर ए सी
दरगाह आला हजरत बरेली शरीफ यू पी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here